चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी कैंपस की 17 CCTV फुटेज बरामद, ड‍िलीट डाटा र‍िकवर करने में जुटी पुल‍िस


 चंडीगढ़. चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी (Chandigarh University) अश्लील वीडियो प्रकरण (Chandigarh Case) की संवेदनशीलता को देखते हुए पंजाब पुलिस इसको गंभीरता से जांच रही है. वीडियो प्रकरण का खुलासा होने के बाद मचे बवाल के चलते अब पुल‍िस ने कैंपस से 23 सीसीटीवी क्लिप भी बरामद की हैं. पुलिस ने 17 सीसीटीवी कैमरों (CCTV Camera Footage) की फुटेज खंगाली है. बताया जा रहा है कि जो छह छात्राएं बेहोश होकर अस्पताल पहुंची थीं उनके सैंपल भी पुलिस ने एकत्रित कर लिए हैं.

चंडीगढ़ कांड में बड़ा खुलासा, लड़की को ब्लैकमेल कर आरोपी मांग रहे थे हॉस्टल के लड़कियों के नहाते हुए VIDEO

दैनिक भास्कर की एक रिपोर्ट के मुताबिक मामले की जांच करने के लिए डीजीपी गौरव यादव ने एक पैरलल टीम का भी गठन किया है. फिलहाल प्राथमिक जांच वीडियो वायरल होने की बात सामने नहीं आई है और न ही किसी छात्रा द्वारा सुसाइड करने का मामला सामने आया है. जांच में पाया गया है कि वीडियो वायरल होने की खबर फैलने के बाद कुछ छात्राएं बेहोश हुईं थीं, जिन्हें एंबुलेंस में अस्पताल ले जाया गया था. पुलिस ने आरोपी युवती व गिरफ्तार रंकज और सन्नी के मोबाइल फॉरेंसिक जांच के लिए भिजवा दिए हैं. पुलिस मोबाइल से डिलीट डाटा रिकवर करना चाहती है. आरोपी सन्नी से बरामद दो मोबाइल व आरोपी रंकज का एक मोबाइल सोमवार को फॉरेंसिक जांच के लिए भेजा गया है.

लड़की ने अपना वीडियो बनाकर किया था शेयर
एसआईटी प्रभारी रूपिंदर कौर भट्टी ने कहा कि वे निष्कर्षों पर काम कर रहे हैं और जांच को फोरेंसिक डेटा के साथ पुष्टि की जानी है. हालांकि पुलिस ने न तो पुष्टि की और न ही इनकार किया कि फोटो/वीडियो में आपत्तिजनक सामग्री थी. भट्टी ने कहा कि मोहाली पुलिस ने आरोपी युवती के अलावा उसके 2 साथियों 31 साल के रंकज वर्मा और 23 वर्षीय सन्नी मेहता को भी शिमला से गिरफ्तार किया है.

एसआईटी ने संदिग्धों से पूछताछ की और लड़की ने सनी के साथ अपना वीडियो बनाने और साझा करने की बात स्वीकार की. रंकज उसके फोन नंबर पर कॉल कर फोटो और वीडियो मांग रहा था. हम जांच के साथ इसकी पुष्टि करने के लिए फोरेंसिक रिपोर्ट का इंतजार कर रहे हैं.


एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने

विज्ञापन

विज्ञापन